माँ वाणी वरदायिनी ,
दें मुझको वरदान ।
सृजन साथ देना मुझे ,
जीवन में पहचान ।।

विद्या वारिद , बुध्दि का ,
अतुलित रहे प्रयोग ।
और लेखनी का करे ,
जन जन माँ उपयोग ।।
सेव

[zombify_post]

Comments

comments