Press ESC to close

शेखर

nirmala dhruv 0 7

भारतीय कंपनी की एक शाखा मे शेखर की नौकरी लगे अभी कुछ ही दिन हुए होंगे। शेखर की ईमानदारी को देखते हुए, कंपनी के द्वारा बहुत बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई।…

Continue reading

कुर्सी

nilima sharma 0 5

"जब देखो तब इस आराम कुर्सी में बैठे रहते हो बाऊजी, जाओ ना कहीं घूम आओ…..रिटायर हो गये तो  जिंदगी तो खतम नहीं हुई ना….. और ऐसे बैठे रहोगे तो…

Continue reading

उलझे आँसू नैन में , करते विरह बखान !

chagan lal garg 0 9

||कुण्डलिया छंद || उलझे आँसू नैन में , करते विरह बखान !प्रेम सघन है राम से , जाग उठा दिनमान !जाग उठा दिनमान , गीत रस सरिता बहती!प्राण बहे अविराम,…

Continue reading

चहल पहल चहुँदिशि अति

shaikendra khare 0 14

◆ भृंग छंद ◆विधान~[{नगण(111)×6}+पताका],111 111 111 111 111 111 21,20 वर्ण,यति 12, 8 वर्ण पर, 4 चरणदो-दो चरण समतुकांत। चहल पहल चहुँदिशि अति,गगन मगन आज।लखन सियहिं सहित अवध,पहुँचत  रघुराज।।पुरजन  …

Continue reading

तुम्हारे पास आना, चाहता हूँ।

tejram nayak 0 8

सुमेरु छंदाधारित…..1222 1222 122 तुम्हारे पास आना, चाहता हूँ।गले तुमको लगाना, चाहता हूँ। तुम्हीं तुम हो सुनो अब, चाहतों में,तुम्हें दिलमें बिठाना, चाहता हूँ। रखा तुझको सदा ही, चाहतों में,यही…

Continue reading

जानूं मैं राज़ ज़ीस्त का तू मत सफाई दे

kisan agrwal 0 9

जानूं मैं राज़ ज़ीस्त का तू  मत सफाई देदेना अगर है कैद से मुझको रिहाई दे वो कान दे मुझे खुदा ता उम्र के लियेचारो तरफ तुम्हारी ही आहट  सुनाई…

Continue reading

इश्क़ का ये फ़ासला तो वक़्त का दस्तूर है ।

rakmish sultanpuri 0 4

इश्क़ का ये  फ़ासला तो वक़्त का  दस्तूर   है ।दर्द  भी  हिस्से  का  तेरे  ऐ  सनम!  मंजूर  है । देखता  हूँ  शक़्ल  तेरी  ले  चिरागा  रात  भर ।है नही…

Continue reading

किंचित मृदु भावों से भरकर देखो पुलकित मन खिलते हैं।

rajni agrwal 0 16

किंचित मृदु भावों से भरकर देखो पुलकित मन खिलते हैं। मधुर मिलन की आस सँजोए मिलने को आतुर दिखते हैं। अरमानों की सेज सजाए दो प्रेमी अंतस अकुलाए – बीच…

Continue reading

ऋतुपति पुष्प खिलाने निकले

meha mishra 0 22

विधा-गीतिकापदान्त-निकलेसमान्त- आने ऋतुपति पुष्प खिलाने निकले,भ्रमरों को बहकाने निकले। आम्र बौर पर पिक रसवंतीउसको गीत सिखाने निकले। सुभग शिखावल के पंखों मेंदहके रंग लगाने निकले। अन्यमनस्का सी विरहन कोमादक दाख…

Continue reading
Skip to toolbar